NEWS & PRESS RELEASE NEWS CATEGORIES 

निगम में शामिल गांवों के ट्यूबवेल आपरेटरों की चिट्ठी बदलने पर एमसीएफ कर्मचारी सस्पेंड, एफआईआर भी दर्ज होगी: मनोहर लाल

– जिला लोक संपर्क एवं परिवाद समिति की मीटिंग के दौरान आई शिकायत के बाद हुआ खुलासा, जांच के भी आदेश

– बल्लभगढ़ में महिला के प्लाट पर कब्ज़ा करने वालों से कब्ज़ा छुड़वाकर महिला को वापिस सौंपने के दिए निर्देश

– मीटिंग में 16 में से तीन मामले रहे लंबित, बाकी सभी मामलों का मौके पर ही किया निपटारा

फरीदाबाद, 10 जनवरी। वर्ष 2020 में नगर निगम में शामिल किए गए 24 गांवों के ट्यूबवेल आपरेटरों को नगर निगम के माध्यम से वेतन न देने के एक मामले की सुनवाई के दौरान नगर निगम फरीदाबाद की एक बड़ी लापरवाही सामने आई। जिसमें एक ही डिस्पैच नंबर पर दो चिट्ठियां जारी की गई थी। इनमें एक में कर्मचारियों को नगर निगम के माध्यम से वेतन देने व दूसरे में न देने की चिट्ठी लिखी गई थी। इस पर नगर निगम के एक कर्मचारी को सस्पेंड कर दिया गया वहीं मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने उस कर्मचारी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के भी आदेश दिए। इसके साथ ही पूरे मामले की जांच के भी आदेश दिए गए। मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल बुधवार को एचएसवीपी कन्वेंशन सेंटर में जिला लोक संपर्क एवं कष्ट निवारण समिति की मासिक बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

मीटिंग में 16 परिवाद रखे गए जिनमें से 13 परिवादों का मौके पर ही निपटारा कर दिया गया। इसमें बल्लभगढ़ निवासी शारदा देवी के 66 गज के प्लाट पर कब्जे का मामला भी था। महिला का कहना था कि उसने पूरे पैसे देकर रजिस्ट्री व इंतकाल करवाया था, लेकिन उसके मकान पर कब्ज़ा कर लिया गया। इस पर मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने संज्ञान लेते हुए पुलिस को निर्देश दिए कि कब्ज़ा खाली करवाकर शारदा देवी को मकान दिलाना सुनिश्चित किया जाए। इसके साथ ही

एचएसवीपी सेक्टर में एक प्लाटधारक द्वारा निलामी में प्लाट खरीदने के बावजूद कब्ज़ा न मिलने पर उसे पालिसी बनाकर उसी कीमत व साईज का दूसरा प्लाट देने के निर्देश दिए।

वहीं फायर ब्रिगेड के कर्मचारियों की एचकेआरएन में एंट्री न करने से संबंधित एक मामले में निर्देश देते हुए कहा कि जब कर्मचारी काम कर रहें हैं उन्हें जल्द ही एचकेआरएन में रजिस्टर्ड किया जाए और वेतन दिया जाए। इसके साथ ही जिला के गांवों हीरापुर, नहरावली व अन्य एक दर्जन गांवों में पिछले 60 वर्षों से बनी हुई नहर में पानी न पहुंचने की समस्या का समाधान भी मीटिंग में रखा गया। इस पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि नहर में अब एक लाख तीन हजार क्यूसेक पानी चल रहा है और इसके लिए सभी ग्रामीणों को बधाई देता हूं। इसी प्रकार झाड़सेतली गांव में प्रदूषण के संबंध में आई एक शिकायत पर संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने एसडीएम के नेतृत्व में कमेटी गठित की जो उद्योगों के गंदे पानी की समस्या का समाधान कर उसे पौधों के लिए उपयोग करना सुनिश्चित करेंगे।

इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने पत्रकारों से बातचीत भी की और कहा कि जल्द ही यमुनानगर में 800 मेगावाट का सौर ऊर्जा पावर प्लांट लगाया जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि एक लाख युवाओं को वैध तरीके से विदेश भेजने के लिए प्रक्रिया की जा रही है। मीटिंग में प्रदेश के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा, फरीदाबाद से विधायक नरेंद्र गुप्ता, तिगांव से विधायक नयनपाल रावत, भाजपा जिलाध्यक्ष राजकुमार वोहरा, मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार राजीव जेटली, पुलिस आयुक्त राकेश आर्य, एफएमडीए के सीईओ ए श्रीनिवास, नगर निगम आयुक्त ए. मोना श्रीनिवास, उपायुक्त विक्रम सिंह सहित कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

फोटो संलग्न।

Related posts

Leave a Comment

Translate »